Ticker

6/recent/ticker-posts

Ad Code

Responsive Advertisement

हिन्दू नव वर्ष 2079 एवं चैत्र वासंती नवरात्र का शुभारंभ 2 अप्रैल शनिवार से, रेवती नक्षत्र, ऐंद्र योग, 2022 से हो रहा है

*हिन्दू नव वर्ष 2079 एवं चैत्र वासंती नवरात्र का शुभारंभ 2 अप्रैल शनिवार से, रेवती नक्षत्र, ऐंद्र योग, 2022 से हो रहा है।*  

*इस वर्ष के राजा शनि, मंत्री गुरु, सस्येश सूर्य, दुर्गेश बुध, धनेश शनि, रसेश मंगल, धान्येश शुक्र, निरसेश शनि, फलेश बुध, और मेघेश बुध हैं। जो सबका सभी प्रकार से मंगल करेंगे। इसके साथ ही कलियुग का 5123 वर्ष बीत चुका। 

*2 अप्रैल से 11 अप्रैल तक रहेगा चैत्र का वासंती नवरात्र!*

*इस साल चैत्र नवरात्र शनिवार के दिन से शुरु हो रहा हैं। इसलिए मां की सवारी अश्व यानी घोड़ा माना जाएगा। शास्त्रों में मां दुर्गा का अश्व पर आना गंभीर माना जाता है। भागवत पुराण के अनुसार, नवरात्रि पर मां दुर्गा जब घोड़े की सवारी करते हुए आती हैं तो इसका असर प्रकृति, देश आदि पर देखने को मिलता है।*

*हिन्दू नव वर्ष के साथ ही वासंती नवरात्र सबके लिए शुभद सुखद एवं मंगलमय होगी। माता विंध्यवासिनी इस वर्ष के नवरात्र व्रत से सबके साथ राष्ट्र विकास में सबका सहयोग करें।* 

*नवरात्र में कलश स्थापना एवं माता शैलपुत्री पूजन 2 अप्रैल शनिवार को कर दुर्गा पाठ आरंभ किया जाएगा।*

*द्वितीया ब्रह्मचारिणी पूजन 3 अप्रैल रविवार को,*

*तृतीया चंद्रघंटा पूजन 4 अप्रैल सोमवार को,*

*चतुर्थी कुष्मांडा पूजन एवं चैती छठ का नहाय खाय 5 अप्रैल मंगलवार को किया जाएगा।* 
 
*पंचमी स्कंदमाता पूजन एवं सायं छठ व्रत का खरना 6 अप्रैल बुधवार को किया जाएगा।*

*षष्ठी कात्यायनी पूजन  7 अप्रैल  गुरुवार को किया जाएगा।*
 *साथ ही आज डाला छठ व्रत में डूबते सूर्य भगवान भास्कर को सायं  5:15 से 5:50 तक सायं अर्घ्य देकर किया जाएगा। और रात्रि में माता कौशीकी की पूजा कर जागरण किया जाएगा।*

*आज 8 अप्रैल शुक्रवार को प्रातः  5:35 पर उगते सूर्य को प्रातः अर्घ्य प्रदान कर इस महाव्रत को सम्पन्न किया जाएगा।*

*साथ ही आज महासप्तमी व्रत एवं कालरात्रि पूजन कर रात्रि 11:30 से नवरात्र व्रत का महानिशा पूजन सम्पन्न किया जाएगा।*
*महाष्टमी व्रत एवं महा गौरी पूजन महा लक्ष्मी पूजन 9 अप्रैल शनिवार को संपन्न होगी।*
 
*महानवमी व्रत एवं सिद्धिदात्री पूजन पूर्वक नवरात्र व्रत का हवन 10 अप्रैल रविवार को किया जाएगा।* 

 *इस वर्ष नवरात्र व्रत का हवन पूजन 10 अप्रैल रविवार को  प्रातः 4 बजे से ही प्रारम्भ कर रात्रि 12:00 तक सम्पन्न किया जाएगा।*

*इसके बाद 11 अप्रैल सोमवार को दशमी पूजन, अपराजिता पूजन, जयंती ग्रहण, कलश विसर्जन पूर्वक नवरात्र व्रत का पारणा किया जाएगा।* 
*इस नवरात्र व्रत में अपनी एवं आप सबकी मनोकामना सिद्धि हेतु... महादेव एवं माता विंध्यवासिनी से मेरी नित्य निवेदन अपने विंध्य आश्रम यज्ञशाला से मंत्र प्रार्थना , नित्य उपासना एवं मातृ चरण वन्दना के साथ रहेगी।*
*माता विंध्यवासिनी एवं महादेव अपनी कृपा कर सबकी प्रसन्नता, जीवन लक्ष्य प्राप्ति के साथ सबकी समस्त कामनाओं को पूर्ण करें।*

*“हे चराचर जगत के स्वामी एवं स्वामिनी आप अपने सभी भक्तों पर अपनी कृपा दृष्टि बनाये रखना।”*
 🙏🙏🙏🙏🙏
*आप सबके संपूर्ण मनोकामना पूर्णता और सर्व साफल्यता लिए माता जी से हमारी विशेष प्रार्थना और  नवरात्र के बाद सबके सुखी जीवन की हार्दिक शुभकामना...*
🌺🌸🌹🌸🌺
*हरि ॐ गुरुदेव..!*
*✒✍🏻 ✒✍🏻* 
*आचार्य आकाश तिवारी*
*श्री मद् भागवत महा पुराण व राष्ट्रीय गौ सेवा संघ मंडल प्रवक्ता*
*संपर्क सूत्र 9651465038*